Breaking News
Home / Latest News / चार दिन पहले कारोबारी को दावत के बहाने घर बुलाकर हत्या करने वाले भट्टा स्वामी के ईंट भट्ठे को प्रशासन ने सील कर दिया

चार दिन पहले कारोबारी को दावत के बहाने घर बुलाकर हत्या करने वाले भट्टा स्वामी के ईंट भट्ठे को प्रशासन ने सील कर दिया


बढ़ापुर: चार दिन पहले कारोबारी को दावत के बहाने घर बुलाकर हत्या करने वाले भट्टा स्वामी के ईंट भट्ठे को प्रशासन ने सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि उक्त भट्टा पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहमति पत्र के बिना ही संचालित किया जा रहा था।
               योगीराज में अपराधियों को नेस्तोनाबूद करने के संकल्प के चलते हुए शनिवार को राजस्व विभाग व प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व पुलिस की टीम ने संयुक्त रूप से अभियान चलाकर थाना क्षेत्र के गांव इस्लामगढ़ के समीप चल रहे गगन ईंट भट्ठे को सील कर दिया। उपजिलाधिकारी नगीना शैलेन्द्र कुमार,तहसीलदार नगीना अवनीश कुमार,नायाब तहसीलदार नगीना अमित कुमार,हल्का लेखपाल सतेंद्र यादव,प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहायक वैज्ञानिक सुरेश त्रिपाठी अपनी टीम के साथ गगन ब्रिक फिल्ड नामक ईंट भट्ठे पर पहुँचे और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा सहमति पत्र की मांग की जिसपर भट्टा संचालक सहमति पत्र दिखाने में क़ासिर रहा। जिसके चलते हुए मौके पर मौजूद टीम ने उक्त भट्टे को सील कर दिया। बताया जा रहा है कि उक्त गगन भट्टे का स्वामी वसीम अहमद द्वारा बीते चार दिनों पहले कारोबारी मुकेश कुमार चौहान को दावत के बहाने घर बुलाकर मौत के घाट उतार दिया गया था। जिसके बाद क्षेत्रीय विधायक द्वारा मृतक मुकेश के परिजनों को सांत्वना देते हुए बताया गया था इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा अमल में लाई जा रही कार्यवाही के अंतर्गत आरोपियों की सम्पत्तियों को जब्त कराया जाएगा। जिसके बाद शनिवार को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तहसील नगीना व बढ़ापुर पुलिस ने ईंट भट्ठे को सील कर दिया। बताया जा रहा है कि उक्त ईंट भट्ठे को वसीम व उसके साझेदार द्वारा नगर के ही राशिद हुसैन नामक व्यक्ति को तीन वर्षों के लिये ठेके पर दे दिया था। परन्तु शनिवार को भट्टे पर सील लग जाने के बाद राशिद हुसेन व उनके साझेदार अपने आप को बेकसूर बताते हुए भट्टे को संचालित कराने के लिये प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं। परन्तु प्रशासन अभी शायद कुछ भी सुनने को तैयार नही है। भट्टे को सील करने के दौरान राहगीरो को जब पता चला तो वह भी प्रशासन के इस कदम की तारीफ करने लगे। जिनका कहना है कि कम से कम अपराधी अपराध करने से पहले सोचेगा जरूर। इस बाबत जब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सहायक वैज्ञानिक सुरेश त्रिपाठी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि भट्टा लगाने के लिए एवं उसे संचालित करने के लिए अलग अलग एन ओ सी चाहिए होती है उक्त एन ओ सी भट्ठा संचालक के पास मौजूद नहीं है जिस कारण भट्टे को सील किया गया है।
PLZ Subscribe RN TODAY NEWS CHANNEL https://www.youtube.com/channel/UC8AN-OqNY6A2VsZckF61m-g न्यूज़ या आर्टिकल व विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें (RN TODAY NEWS +919927141966)

About Rihan Ansari

Check Also

आख़िरकार इंतज़ार खत्म हुआ क्योंकि आकर्षक रोमांटिक गाना ‘मन क्यों बहका जा रहा है’ का पूरा गाना रिलीज़ हो गया है

🔊 पोस्ट को सुनें आख़िरकार इंतज़ार खत्म हुआ क्योंकि आकर्षक रोमांटिक गाना ‘मन क्यों बहका …

Leave a Reply

Your email address will not be published.