Breaking News
Home / Latest News / बढ़ापुर थाना क्षेत्र में पहाड़ा नदी की कैद में जीवन व्यतीत कर रहे आधा दर्जन गांवों के लोगों 

बढ़ापुर थाना क्षेत्र में पहाड़ा नदी की कैद में जीवन व्यतीत कर रहे आधा दर्जन गांवों के लोगों 


बढ़ापुर। बढ़ापुर थाना क्षेत्र में पहाड़ा नदी की कैद में जीवन व्यतीत कर रहे आधा दर्जन गांवों के लोगों ने जिलाधिकारी उमेश मिश्रा को प्रार्थना पत्र देकर नदी पर पुल बनवाए जाने की मांग की है। उक्त गुमनाम गांव पिछले सप्ताह से काफी चर्चा में है जब स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गांव के सैंकड़ों छात्र-छात्राओं ने पुल की मांग को लेकर नदी की बाढ़ में खड़े होकर ध्वजारोहण किया था।
    सोमवार को गांव सदरपुर के ग्राम प्रधान नवनीत सैनी, ग्राम चक उदय चंद के प्रधान पुत्र उदयराज, सरदारपुर के पूर्व प्रधान फतेह सिंह, रिंकू सैनी खुर्शीद, बलदेव  सिंह के नेतृत्व में गांव सरदारपुर, छायली,चक उदयचंद, बहेड़ी काशीवाला के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी उमेश मिश्रा से उनके कार्यालय पहुंचकर पहाड़ा नदी पर पुल बनवाए जाने की मांग के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया।ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को अपने दुखड़ा सुनाते हुए बताया कि उक्त गांवों को बढ़ापुर से जोड़ने के लिए एकमात्र मार्ग है जिसके बीच पहाड़ा नदी पड़ती है। इस नदी पर पुल न होने से बरसात के मौसम में लगभग 250 छात्र-छात्राएं ,स्कूल कॉलेज नहीं पहुंच पाते हैं। गर्भवती महिलाओं को सबसे अधिक समस्या का सामना करना पड़ता है। बीमार लोगों को दवाइयां नहीं मिल पाती है। शवों का अंतिम संस्कार करने में भारी दिक्कत होती है। जब तक नदी पर पुल नहीं बनता तब तक 12 हजार ग्रामीणों की समस्याएं दूर नहीं होने वाली है।
गौरतलब है कि बढ़ापुर थाना क्षेत्र के आरक्षित वन क्षेत्र के समीप बसे उक्त गांवों कि ग्रामीण गुमनाम जैसा जीवन व्यतीत कर रहे थे।परंतु बीते सप्ताह स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर उक्त गांवों के सैकड़ों छात्र-छात्राओं ने पुल बनवाए जाने की मांग के संबंध में अनूठा विरोध प्रदर्शन करते हुए नदी की बाढ़ में खड़े होकर ध्वजारोहण कर राष्ट्रगान गाया था। तब से उक्त गांव देश में चर्चा में है।
जिलाधिकारी से मिले प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि डीएम उमेश मिश्रा ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उनकी ओर से नदी पर पुल बनवाए जाने का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा जा रहा है।
फोटो -जिलाधिकारी को अपनी समस्या बताते ग्रामीण
बढ़ापुर। मंगलवार को पहाड़ा नदी के किनारे गांव सरदारपुर निवासी रोहित सिंह की गर्भवती पत्नी प्रियांशु देवी प्रसव पीड़ा के दर्द से कराह और चीख – चिल्ला रही थी। परिजन प्रियांशु देवी को डिलीवरी के लिए अस्पताल ले जाना चाह रहे थे। किंतु
सोमवार की रात से  हो रही भारी बारिश के कारण पहाड़ा नदी पूरे उफान पर है। दर्द से कराह रही गर्भवती की पीड़ा और नदी के रौद्र रूप को देखकर परिजनों के हाथ पांव -फूलते जा रहे थे।लेकिन नदी किनारे खड़े परिजनों के लिए जलस्तर कम होने का इंतजार करने के सिवा कोई और चारा नहीं था। लगभग 2 घंटे तक गर्भवती दर्द से तड़पती रही जब उसकी हालत बिगड़ती गई तो परिजनों ने बैलगाड़ी की सहायता से जान जोखिम में डालकर  नदी पार कर उसे अस्पताल ले गए।
इस संबंध में ग्राम प्रधान नवनीत सैनी ने बताया कि गर्भवती प्रियांशु देवी 2 घंटे तक नदी किनारे दर्द से तड़पती रही। नदी पूरे उफान पर थी। गर्भवती की हालत बिगड़ने पर किसी तरह परिजन जान जोखिम में डालकर बैलगाड़ी से नदी पार कर उसे अस्पताल ले गए हैं।
फोटो – नदी किनारे बैलगाड़ी में बैठी गर्भवती और परिजन जल स्तर कम होने के इंतजार में
PLZ Subscribe RN TODAY NEWS https://www.youtube.com/channel/UC8AN-OqNY6A2VsZckF61m-g AND RN TODAY MAGAZINE ME न्यूज़ या आर्टिकल व विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें (RN TODAY NEWS +919927141966)

About Rihan Ansari

Check Also

Alisha Shephali and Jyotsna Rai hit the highest marks in the premium contest and wins Glam Guidance Miss/Mrs India Asia 2024

🔊 पोस्ट को सुनें Alisha Shephali and Jyotsna Rai hit the highest marks in the …

Leave a Reply

Your email address will not be published.