Breaking News
Home / Latest News / गीत गजल संगम एकेडमी नजीबाबाद की अयोजित शेरी महफिल में शायरों ने अपना उम्दा कलाम पेश कर खूब वाह वाही लूटी

गीत गजल संगम एकेडमी नजीबाबाद की अयोजित शेरी महफिल में शायरों ने अपना उम्दा कलाम पेश कर खूब वाह वाही लूटी


नजीबाबाद।  गीत गजल संगम एकेडमी नजीबाबाद की अयोजित शेरी महफिल में शायरों ने अपना उम्दा कलाम पेश कर खूब वाह वाही लूटी।इस अवसर पर उर्दू अदब की खिदमत करने पर हाजी इखलास एडवोकेट,और नसीम आलम एडवोकेट को शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।
   अदब सिटी कॉलोनी में मास्टर तनवीर अहमद के निवास पर अयोजित शेरी महफिल का आगाज डॉक्टर इलियास अंसारी की नात ए पाक से हुआ।महफिल की शमा तनवीर अहमद ने रोशन की।
   मुख्य अतिथि नसीम आलम एडवोकेट ने कहा कि इन शेरी महफिलों से उर्दू अदब जिंदा होता है।उन्हों ने कहा कि उर्दू महफिलें वक्त और हालत की जरूरत है उन्हों ने अपने बच्चों को उर्दू तालीम दिलाए जाने पर जोर दिया।उन्हों ने समाज को जोड़ने वाली शायरी करने जज्बात भड़काने वाली शायरी से दूर रहने की सलाह दी।
   महफिल के अध्यक्ष इखलास एडवोकेट ने कहा कि एक शायर हमे अपने कलाम के द्वारा रास्ता दिखाता है।और एक शायर बहुत बड़ी बात एक शेर में के देता है।उन्हों ने कहा कि एक शायर समाज का दर्द बयान करता है वहीं वर्तमान हालात पर भी अपनी नजर रखता है।उन्हों ने कहा शायरों ने समाज को जोड़ने का काम किया है।उन्हों ने दिलों को जोड़ने वाली शायरी करने पर जोर दिया।
    कारी शाकिर रिजवी के संचालन में अयोजित शेरी महफिल में शायरों ने वर्तमान हालात,और समाज का दर्द,अपनी शायरी में पेश किया।
वाहिद जमाल ने कहा….
कभी आंखे कही चेहरे बदल कर बात करते हैं।
रुलाते हैं वही जो लोग हंस कर बात करते हैं।
डॉक्टर आफताब नोमानी का कलम…..
वो आफताब बहुत होनहार लड़का था।
किसी की जान बचाने में जान खो बैठा।
  नौशाद अहमद ने कहा….
सिर्फ मस्जिद में नहीं रहता खुदा।
दिल के अंदर भी इसे ढूंढा कर।
 मौलाना अकरम का कलम….
ये ना पूछो कोन हो किया हो तुम।
मेरे दर्दे दिल की दवा हो तुम।
डॉ०इलियास अंसारी का कलाम…
कहां खो गया अचानक मेरे दिल पे वार कर के।
मेरी थक गई हैं आंखे तेरा इंतजार करके।
कमर अख्तर का कलाम….
में ने इशारा किया उसको एक जाम के बाद।
शोख अदा बोली अभी दिन है शाम के बाद।
 जफर अहमद ने कहा..
.तुम्हारी यादों को मेने बहाल रखा है।
 गमे जुदाई को सीने में पाल रखा है।
  कारी शाकिर रिजवी ने फलस्तीन पर बेहतरीन नज्म पेश की।
भीड़ है और तन्हा में गमगीन हूं।
में फलीतीन हु में फलस्तीन हू।
  डॉ०नसीम अख्तर का कलाम…
  मेरा हक मान के यह कह दिया मुंसिफ ने मेरे।
आस्थाओं पर अब इंसाफ किया जाता है।
शहबाज अख्तर ने कहा….
बस्ती वालों को जगाने के लिए निकला है।
ऐशो इशरत की घनी छांव में सोने वाला।
हाफिज शादाब ने कहा….
गम भुलाने के हैं तरीके बहुत।
गम का हल यार बस शराब नहीं।
साजिद अहमद कोटद्वार ने कहा…
जमी तो चीन गई पर आसमान बाकी है।
हमारे सर पर अभी सायबान बाकी है।
इसरार मुल्तानी ने कहा….
हम पर इतने गम टूटे हैं।
वोह कहते हे कम टूटे हैं।
इनके अलावा शहबाज अख्तर,जावेद नूर,मोहम्मद साजिद,तसलीम अहमद मंडावर,नसीम नजीबाबादी,कुमार मोनू रूबा,सुहैल शाहाब,आदि ने अपना कलाम पेश किया।इस मौके पर नवाब वारसी,मोहम्मद शाहिद,महबूब अली,नासिर अहमद,महफूज अली,काजी अब्दुल मलिक,हुसैन अहमद जोगीरमपुरी,अजीज मुल्तानी, एम डी खान,आदि लोग मौजूद रहें।संयोजक वाहिद जमाल ने सभी का शुक्रिया अदा किया।

PLZ Subscribe RN TODAY NEWS CHANNEL https://www.youtube.com/channel/UC8AN-OqNY6A2VsZckF61m-g न्यूज़ या आर्टिकल व विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें (RN TODAY NEWS +917618141966) Contact for news or article and advertisement

About Rihan Ansari

Check Also

Alisha Shephali and Jyotsna Rai hit the highest marks in the premium contest and wins Glam Guidance Miss/Mrs India Asia 2024

🔊 पोस्ट को सुनें Alisha Shephali and Jyotsna Rai hit the highest marks in the …

Leave a Reply

Your email address will not be published.