Breaking News
Home / Latest News / उत्पादकता के औध्योगिक कारखाने मॉडल पर आधारित सभी शिक्षा प्रणाली में फिट बैठता है –  डा॰ शौली मुखर्जी 

उत्पादकता के औध्योगिक कारखाने मॉडल पर आधारित सभी शिक्षा प्रणाली में फिट बैठता है –  डा॰ शौली मुखर्जी 


डा॰ शौली मुखर्जी की घटनापूर्ण यात्रा-एक क्रांतिकारी शिक्षाविद् और वैश्विक, जो आकर्षक बदलाव को एक आकार में चलाने के लिए प्रतिबद्ध है, एक रचनात्मक, अभिनव, व्यक्तिगत, खुशहाल और शिक्षा के पूर्ण रूप के लिए उत्पादकता के औध्योगिक कारखाने मॉडल पर आधारित सभी शिक्षा प्रणाली में फिट बैठता है|

डा॰ शौली मुखर्जी – अब तक का सफ़र

२० से अधिक वर्षों में शिक्षा के क्षेत्र में एक उद्देश्यपूर्ण करियर के साथ डा॰ मुख़र्जी ने अपना जीवन बाल-केंद्रित और गतिविधि उन्मुख शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए समर्पित कर दिया| एक भावुक शिक्षविद् और नए युग के K-१२ स्कूलों की स्थापना और नेतृत्व करने पृष्ठभूमि के साथ एक विचारशील नेत्री, डा॰ शौली मुख़र्जी एडामस वर्ल्ड स्कूल और स्टेम वर्ल्ड स्कूल, जो पश्चिम बंगाल के पहले स्टेम स्कूल के संस्थापक थे| उनके प्रेरक नेतृत्व में, स्टेम वर्ल्ड स्कूल को शिक्षा जगत द्वारा पश्चिम बंगाल में सर्वश्रेष्ट अंतराष्ट्रीय स्कूल के रूप दूसरा स्थान दिया गया और सम्मानित किया गया| डा॰ मुख़र्जी का दृढ़ विश्वास है कि सार्थक शिक्षा का उद्देश्य आजीवन शिक्षार्थियों, रचनात्मक विचारकों और जिम्मेदार वैश्विक नागरिकों को विकसित करना हैं, अनिश्चित और लगातार सामने आने वाले भविष्य की चुनौतियाँ का सामना करने के लिए आत्मविश्वास से सुसज्जित हैं| शिक्षा के क्षेत्र में अपने करियर के बावजूद, डा॰ मुख़र्जी ने सभी आयु वर्ग के बच्चों के लिए एक व्यक्तिगत, आकर्षक और तनाव मुक्त पाठ्यक्रम बनाने की प्रक्रिया रूप से योगदान दिया और उसका नेतृत्व किया| उन्हें ULektz  की अकादमिक परिषद द्वारा शिक्षा उद्योग में भारत की शीर्ष ५० महिला नेताओं में शामिल होने के लिए सम्मानित किया गया है| वह भारत भर में प्रमुख शैक्षिक संगठनो के साथ-साथ विश्व स्तर पर वरिष्ट सलाहकार क्षमता से जुड़ी हुई है| एक अत्यधिक विपुल प्रेरक वक्ता के रूप में उन्हें शिक्षा की भविष्य और परिवर्तनकारी भूमिका पर अपनी अंतर्दृष्टि साझा करने के लिए कई राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय सम्मेलनों, शिखर सम्मेलनों और कार्यक्रमों में नियमित रूप से आमंत्रित किया जाता है| वह वर्तमान में स्कूल ऑफ़ एजुकेशन के निर्देशक और एडामस विश्वविध्यालय कोलकाता के छात्रों के मामलों के डीन के रूप में काम कर रही हैं|

 

वर्तमान राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय संघ   

पूर्वी भारत के प्रमुख विश्वविध्यालयों में से एक निर्देशक और डीन के रूप में अपनी वर्तमान भूमिका के अलावा, वह स्कूल ऑफ़ एजुकेशन की फैकल्टी काउंसिल की उपाध्यक्ष भी हैं| कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से संबंधित मामलों के लिए विश्वविध्यालय अनुसंधान बोर्ड, विश्वविध्यालय आतंरिक शिकायत समिति (ICC), विकलांग छात्रों के लिए विश्वविध्यालय आंतरिक समिति और विश्वविध्यालय की अकादमिक परिषद के नामित सदस्य हैं| वे विश्वविध्यालय आंतरिक गुणवता आश्वासन प्रकोष्ठ (IQAC)की वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी भी हैं| एक अत्यंत बहुमुखी व्यक्ति होने के नाते, उनकी विशेषज्ञता काम के विविध क्षेत्रों में फैली हुई हैं क्योंकि वे कई टोपियाँ पहनती हैं- चार्ल्स वाल्टर की सोसाइटी फार इनोवेशन एंड रिसर्च (CWSIR) के कार्यकारी निर्देशक (पाठ्यक्रम) के रूप में, राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य (भारत-पूर्वी क्षेत्र) वैश्विक एडू- लीडर्स फोरम, ब्रांड एबेंसडर और पश्चिम बंगाल से बुधवार के समय के लिए राज्य शैक्षिक सलाहकार, स्पोर्ट्स अकेडमी एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया के राष्ट्रीय सलाहकार, इंटरनेशनल इंटर्नशिप ग्लोबल यूनिवर्सिटी के सलाहकार बोर्ड के सदस्य, इंडिया पॉवर टॉक के मानद संरक्षक, वैश्विक स्तर पर राष्ट्रीय शिक्षा परिषद के अध्यक्ष चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (GCCI), चीफ- इंस्टिट्यूट- IGC इंडियन गोल्फ सर्किट में उत्तर-पूर्व, ग्लोबल मेंटल हेल्थ एसोसिएशन (GMHA) के सलाहकार, बोर्ड के सदस्य टॉक रूम के सलाहकार, प्रोफ़ेसर स्किल्स 4U के सलाहकार, IDYMके कार्यकारी निर्देशक की स्थापना, बोर्ड के सदस्य MISOHE के सलाहकार, AGPE रिसर्च जर्नल के सम्पादकीय सलाहकार, युनिवर्सल मेंटर्स एसोसियेशन के मेंटर और भारतीय महिला के संस्थागत संघ बोर्ड के संरक्षक हैं| वह वरिष्ठ सलाहकार क्षमता में विश्व स्तर पर अंतराष्ट्रीय संगठन से भी जुड़ी हुई हैं, जिसमें उन्हें शिक्षा बोर्ड ऑफ़ होप एम्बेसडर और चाइल्डकैअर संगठन, नाइजीरिया, बोर्ड के सदस्य इंडो कनाडा शिक्षा परिषद के सलाहकार, राष्ट्रीय शिक्षा संस्थान के शैक्षिक सलाहकार, मंत्रालय शिक्षा, मालदीव गणराज्य, महिला सुधर संगठन के राजदूत और अकादमिक सलाहकार, नाइजीरिया, वैश्विक युवा मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता (GYMHA) ऑस्ट्रेलिया के विशेष बोर्ड सलाहकार, वैश्विक शांति स्थापना के शांति राजदूत, दुबई, (UAE), राष्ट्रमंडल उद्यमी क्लब के राजदूत, यूनाइटेड किंगडम और महिलाओं से प्रेरित दुनिया में संरक्षक (WIW GLOBAL) |

पुरुस्कार और उपलब्धियाँ  

वह २०१५ में शिक्षा के क्षेत्र में व्यावसायिक उपलब्धि के शिक्षा उत्कृष्टता  प्रमाणन सहित कई पुरस्कारों और प्रशंसाओं की प्राप्तकर्ता रही हैं| २०१६ में शिक्षा के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान के लिए एजुकेशन द्वारा उपलब्धि प्रमाण पत्र, २०१७ में राष्ट्रीय गुणवत्ता उत्कृष्टता पुरस्कार, पश्चिम बंगाल के शीर्ष स्कूलों में सर्वश्रेष्ठ आधारिक संरचना         स्कूल के रूप में और सर्वश्रेष्ठ अभिनव अभ्यास के लिए ब्रेंफीड स्कूल उत्कृष्टता पुरुस्कार २०१७ और २०१८ के लगातार प्राप्तकर्ता रही हैं, स्टेम शिक्षा और अकादमिक उत्कृष्टता क्रमशः २०१७ में जेम ऑफ़ इंडिया अवार्ड की प्राप्तकर्ता है, २०१८ शिक्षा में उत्कृष्टता के प्रति प्रतिबद्धता की श्रेणी में राष्ट्रीय शिक्षा नेतृत्व पुरस्कार, २०१९ में पीयरलेस एबीपी प्रतिभा स्वीकृति पुरस्कार, २०२० में राष्ट्र निर्माण में योगदान के लिए डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन पुरस्कार, २०२० में चार्ल्स वाल्टर्स सोसाइटी फार इनोवेशन एंड रिसर्च (CWSIR) और भारतीय गणतंत्र सम्मान रिपब्लिक इंडिया ऑनर द्वारा गुरूपनिषद सम्मान| वर्तमान वर्ष में डॉ॰ मुख़र्जी को प्राप्त पुरस्कारों की सूचि में गुरुवर्य सम्मान, विश्व शांति पुरस्कार, नारी तू नारायनी सम्मान, इंटरनेशनल चैम्बर ऑफ़ सर्विस इंडस्ट्री द्वारा मान्यता पुरस्कार, राय विश्वविध्यालय द्वारा उत्कृष्ट उपलब्धि पुरस्कार, अहमदाबाद सक्षम सोसाइटी द्वारा अंतराष्ट्रीय उत्कृष्ट अकादमिक नेता पुरस्कार, जयपूर राजस्थान,शैडो २०२१ में डिजिटल क्रिएटिव अवार्ड, स्माइल्स४मिलियंस पीस अवार्ड,

पश्चिम बंगाल के सर्वश्रेष्ठ प्रोफ़ेसर की श्रेणी में अंतराष्ट्रीय EDUx ICON पुरस्कार २०२१ और अंतराष्ट्रीय एडू कॉन्क्लेव और २०२१ में डीन के रूप में सम्मान का पुरस्कार|

मिशन:     

एक ऐसे व्यक्ति के रूप में जो स्पर्श करने के लिए आंतरिक प्रेरणा पर पनपता है,शिक्षा की परिवर्तनकारी और उत्कृष्ट शक्ति के माध्यम से लोंगों के जीवन में प्रभाव, प्रेरणा और दृश्य और वास्तविक अंतर पैदा करना हैं, डॉ. मुखर्जी एक अत्यंत भावुक और उद्देश्य से प्रेरित शिक्षाविद हैं, जो पिछले दो दशकों से भी अधिक समय से युवा शिक्षार्थियों में रचनात्मक और नवीन प्रतिभा और अद्वितीय प्रतिभा और क्षमताओं को विकसित करने और पोषित करने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में लगातार काम कर रहें हैं| उनका मान्यता है कि एक शिक्षाविद के रूप में उनकी प्राथमिक जिम्मेदारी युवा शिक्षार्थियों को और अधिक आत्मविश्वास में विकसित करने में मदद करना हैं, सक्षम, स्वयं को गतिशील और प्रामाणिक संस्करण जो २१वीं सदी के VUCA विश्व की लगातार उभरती वैश्विक जटिलताओं को संबोधित करने के लिए समग्र रूप से सुसज्जित हैं|

नेतृत्व का दर्शन:

डॉ. मुख़र्जी का दृढ़ विश्वास है कि एक सच्चा नेता वह है जो रास्ता जनता है, रास्ता दिखाता है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि वह उसी राह पर जाता हैं| एक नेता लोंगो को वहां ले जाता है जहाँ वे जाना चाहते हैं, लेकिन एक महान नेता लोंगों को वहां ले जाता है जहाँ वे नहीं जाना चाहते लेकिन जाना चाहिए| डॉ. मुख़र्जी के अनुसार, शिक्षा में नेतृत्व की वास्तविक भूमिका कभी भी आदेश और नियंत्रण की नहीं होनी चाहिए,बल्कि यह जलवायु नियंत्रण में से एक होना चाहिए- यानी अनंत संभावनाओं और अपार संभावनाओं का एक उपयुक्त वातावरण बनाना जहाँ लोग खुद के उच्चतम, सच्चे और सबसे अच्छे संस्करणों में विकसित होते रहेंगे|

आज के युवाओं के लिए संदेश:

“आज के युवाओं में प्रतिभा और क्षमता में बिलकुल कमी नहीं हैं, हमेशा याद रखें कि दुनिया किसी की परवाह नहीं करती है और आप जितना जानते हैं उससे थोड़ा भी नहीं बदला है, बल्कि यह निश्चित रूप से प्रभावित होता है कि आप जो जानते हैं उसके साथ क्या करने का निर्णय लेते हैं| अपने आप से पूछें कि वह कौन सी एक समस्या/मुद्दा है जिसे आप हल करना चाहते हैं जो आपके आस-पास के लोगों के जीवन में एक वास्तविक अंतर पैदा करेगा| इस प्रश्न का उत्तर आपको अपने जीवन के उद्देश का पता लगाने में मदद करेगा| आप जो कुछ भी करते हैं उसके लिए एक बड़ा उद्देश्य बनाने की कोशिश करें और इसके लिए खड़े हों| आपका उद्देश्य अंततः लोंगों को आपकी दृष्टि की ओर खींचने के लिए एक मज़बूत चुंबक के रूप में कार्य करेगा| आपका उद्देश्य अंततः आपकी मंजिल तय करेगा| अपने जुनून का पालन करें, अपने आप पर विश्वास करें और बड़े सपने देखते रहें – और फिर आकाश की तरह आपके भी सीमा अपार रहेगी|”

 

न्यूज़ या आर्टिकल देने के लिए संपर्क करें (रिहान अन्सारी 9927141966) Contact us for news or articles AND INTRESTED SEND SMS WHATSAAP

About Rihan Ansari

Check Also

निर्माता और अभिनेता शांतनु भामरे को महाराष्ट्र रत्न गौरव पुरस्कार में सर्वश्रेष्ठ निर्माता और अभिनेता के रूप में सम्मानित किया गया

🔊 पोस्ट को सुनें निर्माता और अभिनेता शांतनु भामरे को महाराष्ट्र रत्न गौरव पुरस्कार में …

Leave a Reply

Your email address will not be published.