Breaking News
Home / Latest News / विजय मीणा ने जुनून के साथ अपना कैरियर फुटबॉल में बनाया  

विजय मीणा ने जुनून के साथ अपना कैरियर फुटबॉल में बनाया  


मध्यप्रदेश/श्योपुर/बीरपुर: विजय मीणा मध्य प्रदेश श्योपुर जिले में तहसील बीरपुर  का रहने वाला है इन्होने 12 वीं पास गणित से किया है और अब बीए ऑनर्स रेगुलर, या बी.एस.सी प्राइवेट चल रही हैं और साथ में  यूपीएससी आईएएस सिविल सर्विस के तैयारी कर रहे है। और आईएएस बनना इनका बचपन का लक्ष्य है। उनके अध्ययन के साथ उन्हें फुटबॉल अच्छा लगने लगा। तो उन्होंने फुटबॉल को जुनून बना लिया है अब वह  यूपीएससी और फुटबॉल दोनों को मैनेज करते है। वह  8वीं कक्षा में ग्वालियर चले गए  वहा से उन्होंने फुटबॉल की शुरूआत करी  उन्होंने वीनस पब्लिक स्कूल ग्वालियर से अपने फुटबॉल सेखने की शुरूआत करी है। वहा उन्हें सबसे ज्यादा मोटिवेट किया अमनदीप मैंम ने  उनके बाद उसे स्कूल में एक अच्छा दोस्त मिला उसका नाम हिमांशु परमार है जिसने उन्हें फुटबॉल सिखाने में बहुत योगदान दिया फिर उन दोनों ने  फ़ुटबॉल स्कूल कैंप से अपने गेम को अच्छा किया  सुबह 5 बजे उठकर ग्राउंड जाते थे।. फिर स्कूल ऐसे ऐसे विजय ने फ़ुटबॉल अच्छा खेलना  शुरू कर दिया  1 साल बाद  उन्हें  स्कूल टीम में सेलेक्ट कर लिया ।.
विजय की खेलने की पोजिशन  स्ट्राइकर  और राइटफुल बैक डिफेंडर थी  और  उनके अच्छे गेम के वजह से उन्हें कोच ने स्कूल टीम का कप्तान बना दिया।.  उन्होंने अपने स्कूल टीम से शहीद भगत सिंह टूर्नामेंट खेला जिसमे फाइनल तक अपने टीम को पुहचाया टूर्नामेंट का आयोजन  जसवीर मरैया सर ने करवाया था।. उसके बाद वह ग्वालियर में टॉप स्कूल में खेलने जाने लगे।. दिल्ली पब्लिक स्कूल,  रेडियंट पब्लिक स्कूल,  साइंडिया स्कूल, भारतीय विद्या निकेतन स्कूल,  श्री राम स्कूल, रामश्री स्कूल, आदि उसके बाद इन्होने जिला स्तरीय मैच खेले और फिर राज्य स्तरीय खेले उनके इस गेम को देखने के बाद उन्हें जसवीर सर ने नेशनल ट्रायल में बुलाया। उसके बाद नेशनल ट्रायल हुए 3 दिन जिसके बाद उनका चयन हुआ और वह  नेशनल खेलने गोवा (मापुसा) गए।. उनके साथ उनका दोस्त हिमांशु परमार का भी सिलेक्शन हुआ था ।.
जिसमे वह विजेता होकर आए, वह आयु वर्ग अंडर-16  में नेशनल खेले थे। नेशनल जीतने के बाद उन्होंने ओपन टूर्नामेंट और ओपन नेशनल खेले , गीता देवी प्रतियोगिता ग्वालियर में  खेला है, भरत मेमोरियल टूर्नामेंट दिल्ली में खेला है, जीवाजी यूनिवर्सिटी में टूर्नामेंट खेले है , जयपुर ओपन नेशनल खेला है,  इसके बाद उनके गेम को देखने के बाद 2018 मै उन्हें उड़ान फेडरेशन के  तरफ़ से  उन्हें  “मेजर ध्यान चंद्र अवार्ड” मिला है। जो सिर्फ  पूरे ग्वालियर डिस्ट्रिक्ट में विजय मीणा को मिला है। जिसके सचिव रवींद्र सर हैं और  सतेंद्र सर अध्‍यक्ष है , यह अवॉर्ड ग्वालियर के जीवाजी क्लब में मिला है,  इसके  बाद ग्वालियर माई एक नई फुटबॉल अकादमी खुली  जिस्का नाम ” एकादश फुटबॉल अकादमी” जिस्के कोच गौरव सर, मुकेश सर, विजय सर  थे।. उन्होंने विजय को उस  एकेडमी में इन्वाइट किया और विजय ने  अपनी मेहनत  के साथ प्रैक्टिस करके अपने गेम को  और अच्छा किया
उनके गेम को अच्छा करने मै गौरव सर और मुकेश सिर ने बहुत सहयोग दिया  और उन्हें  गेम के सभी टेकल , डिफेंडिंग , फॉरवर्ड मूव्स सिखाई।. वह से  विजय ने पूरे ग्वालियर में टूर्नामेंट खेले। और आर्मी स्पोर्ट्स कोटा प्लेयर के साथ भी प्रैक्टिस मैच खेले हैं।. इसके बाद उन्होंने क्लब के ट्रायल  दिए हैं पंजाब यूनाइटेड एफ.सी. पठानकूट , मिनर्वा एफसी चंडीगढ़ ,  दिल्ली डायनेमोज एफसी ,  और फिर उन्होंने दौड़ एथलेटिक में ओपन रैली  में भाग लिया यह रैली दैनिक भास्कर पेपर के तरफ से आयोजित करवाई थी। जिसमे करीब  5000 लोगो के साथ विजय ने अपने रनिंग का तजुरबा दिखाया  और उसमे विजय की रैंक 7 आए  इसके बाद उन्हें मेडल और  सर्टिफिकेट दिया गया।.
 विजय ने  इंटरनेशनल क्विज में भाग लिया है,  और उनका  पसंदीदा फुटबॉलर सुन्निल छेत्री है, और क्रिस्टियानो रोनाल्डो है,  और उनका पसंदीदा अभिनेता टाइगर श्रॉफ है, और उनके बहुत न्यूज पेपर में समाचार निकले है।एलएन स्टार भोपाल,  दैनिक भास्कर ग्वालियर, दैनिक भास्कर श्योपुर, पत्रिका ग्वालियर, पत्रिका श्योपुर, शहर समाचार ग्वालियर, गोवा खबर, चंडीगढ़ समाचार, आदि  इन सब के बाद उन्हें एक शॉर्ट फिल्म ऑडिशन को बुलाया।  विजय ने ग्वालियर  में ऑडिशन दिया।. चंबल रिवाइज फिल्म का जिस्का रिजल्ट अभी आया नहीं है। लेकिन अब वह मॉडल और  एक्टिंग लाइन में भी वर्क कर रहे है।. अपने गेम के साथ वह कुछ वर्क करना चाहते है  जिससे लोग उनसे ज्यादा से ज्यादा जुड़े और विजय स्पोर्ट्स मै जो स्टूडेंट या प्लेयर जाना  चाहते है  उनको गाइड देना चाहते है।.
 विजय के  पिता का नाम विमल सिंह मीणा है जो एक सरकारी शिक्षक है और मेरे माँ का नाम पुष्मा मीणा है  उनके भी सरकारी नौकरी है उनकी एक बड़ी बहन है जिसका नाम अंकुर मीणा है वह  सरकारी टीचर परीक्षा तैयारी कर रही है  उनका एक बड़ा भाई भी है जिसका नाम अजय मीणा है वह सब इंस्पेक्टर की तैयारी कर रहे है।. विजय का पूरा परिवार सरकारी कर्मचारी है उनके चाचा चाची सब एक कर्मचारी है उनके फैमिली ने शिक्षा में बहुत पहचान बनाई है अपने  जिले में और तहसील  मै  धन्यवाद।.
“जब निराशा महसूस हो तब
फुटबॉल का खेल जरूर देखना कि 90 मिनट के खेल के लिए
एक खिलाड़ी कई सालों तक तैयारी करता है “!
आपका अपना फुटबॉलर विजय मीणा
न्यूज़ या आर्टिकल देने के लिए संपर्क करें (रिहान अन्सारी 9927141966) Contact us for news or articles

About Rihan Ansari

Check Also

लोकायत आर्ट गैलरी में फेमिना इवेंट्स बाय रुचिका एंड पी आर मेकओवर द्वारा ब्रीड्स ऑफ इंडिया का फोटो शूट ऑर्गनाइज किया 

🔊 पोस्ट को सुनें लोकायत आर्ट गैलरी में फेमिना इवेंट्स बाय रुचिका एंड पी आर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.