Breaking News
Home / Latest News / महिला सशक्तिकरण की मिशाल व समाज  का रोल मॉडल डॉ. माध्वी बोरसे के  जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

महिला सशक्तिकरण की मिशाल व समाज  का रोल मॉडल डॉ. माध्वी बोरसे के  जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं


 
डा० माध्वी बोरसे ( एडुटेनमेंट स्पोकन इंग्लिश व स्मार्ट क्लासेज ) की संस्थापक, एक शिक्षाविद , सॉफ्ट स्किल्स ट्रेनर , इंटरनेशनल स्पीकर  , पीडी मेंटर ,प्रोफेशनल ऑनलाइन इंग्लिश कोच , कॉर्पोरेट एंकर , प्रेरक वक़्ता , लेखिका , बेटी एक लक्ष्य संस्थान में राजस्थान की राज्य अध्यक्ष, एनसीडब्लूडीसी की राष्ट्रीय सचिव , सोशल एक्टिविस्ट ,   आईडीवाईएम    राजस्थान की मुख्य निर्देशक , हॉनररी और पीस एमबेसडअर , “ईअर टू हियर “ की नेशनल एडवाइजर है और पॉजिटिव थॉट्स कंसलटिंग एंड ट्रेनिंग सलूशन मैं विमेन एंपावरमेंट की नेशनल एडवाइजर है!
डा० माध्वी बोरसे जी, पिछले 8 साल से छात्रों को पढ़ा रही है उन्होंने शिक्षा को एक अलग और बेहतरीन तरीक़े से प्रस्तुत किया है जहाँ बच्चे वयस्क और वरिष्ठ नागरिक बिना तनाव के मनोरंजनक रूप से पढ़ाई कर सकते है। वह समाज में सभी नारियों के लिए एक मर्गदर्शक के तौर पर कार्य कर रही है । वह एक ज़िंदादिल इंसान है । इनका पढ़ाने का तरीक़ा सबसे अलग और रोमांचक है जहाँ आजकल बच्चे वयस्क गीतों से अपना मनोरंजन करते है वही डा० माध्वी बोरसे ने अपने पढ़ाने के तरीक़े  में ही गीतों  की धुन को शामिल कर दिया वह अंग्रेज़ी को बहुत ही आसान तरीक़ों से पढ़ाती है । वह डांस, एक्शन, एक्टिविटीज, ड्रामा, एक्टिंग,  इन सभी तरीको से वह पढ़ाई को बहुत ही मनोरंजक बना देती है जिससे पढ़ने का तरीका बहुत ही आसान लगता है। उनका सबसे अच्छा तरीका पीएचडी रिसर्च फ्रेम वर्क है, इस तरीके मे पढ़ने वाले का बॉडी माइंड दोनों इंगेज रहता है। इसी तरीके से वो बहुत से बच्चो को अंग्रेजी बोलना सिखा चुकी है और अभी भी निरंतर सिखा रही है! बहुत छोटी सी उमर में, इन्हें बहुत शारीरिक कष्ट से भी गुजारना पड़ा, इनका बहुत छोटी सी उमर में इनका हार्ट ऑपरेशन हुआ!
उन्होंने अपने पारिवारिक ज़िंदगी में बहुत उतार चढ़ाव देखे, छोटी सी उमर में विवाह होना, उसके बाद तलाक हो जाना पर वह अपने लक्ष्य को पूरा करने में पीछे नहीं हटी  वह एक दृढ़निश्चय इंसान है ! वह समाजसेवा मे निरंतर कार्यरत है! वह सभी को पढ़ा ही नहीं रही है, साथ ही साथ उन्हें रोजगार भी दिला रही है, खासतौर से महिलाओं को, इन्होंने बहुत सारी, कविताएं और आर्टिकल इंसानियत, शिक्षा और 21वीं सदी की नारी को अपने जीवन कैसे व्यतीत करना चाहिए पर लिखे हैं! इन्हें बहुत से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय अवॉर्ड्स, मेडल, वर्ल्ड रिकॉर्ड और डॉक्टरेट से भी नवाजा गया है! इनके इंटरव्यू रेडियो ही नहीं टीवी पर भी हुए हैं, इनकी स्टोरी इतनी प्रेरणादायक है की वह बहुत सी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मैगजीन में भी छपी है!
इनके अंदर कलाओं का भरमार है, इन्हें शिक्षा आसान तरीकों से पढ़ाना, रैपिंग, कविताएं बनाना, आर्टिकल्स लिखने से लेकर, बहुत सी चीजों में यह माहिर है! इनका मानना है कि अगर आप अपनी जिंदगी अपने पैशन, इंसानियत, और रूटीन में पूरी तरह से व्यस्त करें, तो आप बहुत खुश रह सकते हैं!
डॉ माध्वी बोरसे जी समाज मे नारियों के लिए एक मिसाल के तौर पर काम कर रही है।
इनका सपना है एक दिन हर इंसान पढ़ना चाहे, और उसे पढ़ने में खुशी हो, इसीलिए वह आसान से आसान तकनीकों को, लाने की कोशिश कर रही है और समाज में सभी को बराबर का दर्जा मिले, चाहे कोई किसी भी जाति का या धर्म का हो, या कोई भी जेंडर का! डा० माध्वी बोरसे (EDUTAINMENT SPOKEN ENGLISH & SMART CLASSES) की संस्थापक, एक शिक्षाविद , सॉफ्ट स्किल्स ट्रेनर , इंटरनेशनल स्पीकर  , पीडी मेंटर ,प्रोफेशनल ऑनलाइन इंग्लिश कोच , कॉर्पोरेट एंकर , प्रेरक वक़्ता , लेखिका , बेटी एक लक्ष्य संस्थान में राजस्थान की राज्य अध्यक्ष, एनसीडब्लूडीसी की राष्ट्रीय सचिव , सोशल एक्टिविस्ट , IDYM राजस्थान की मुख्य निर्देशक , हॉनररी और पीस एमबेसडअर , “ईअर टू हियर “ की नेशनल एडवाइजर है और पॉजिटिव थॉट्स कंसलटिंग एंड ट्रेनिंग सलूशन मैं विमेन एंपावरमेंट की नेशनल एडवाइजर है!
डा० माध्वी बोरसे जी, पिछले 8 साल से छात्रों को पढ़ा रही है उन्होंने शिक्षा को एक अलग और बेहतरीन तरीक़े से प्रस्तुत किया है जहाँ बच्चे वयस्क और वरिष्ठ नागरिक बिना तनाव के मनोरंजनक रूप से पढ़ाई कर सकते है। वह समाज में सभी नारियों के लिए एक मर्गदर्शक के तौर पर कार्य कर रही है । वह एक ज़िंदादिल इंसान है । इनका पढ़ाने का तरीक़ा सबसे अलग और रोमांचक है जहाँ आजकल बच्चे वयस्क गीतों से अपना मनोरंजन करते है वही डा० माध्वी बोरसे ने अपने पढ़ाने के तरीक़े  में ही गीतों  की धुन को शामिल कर दिया वह अंग्रेज़ी को बहुत ही आसान तरीक़ों से पढ़ाती है । वह डांस, एक्शन, एक्टिविटीज, ड्रामा, एक्टिंग,  इन सभी तरीको से वह पढ़ाई को बहुत ही मनोरंजक बना देती है जिससे पढ़ने का तरीका बहुत ही आसान लगता है। उनका सबसे अच्छा तरीका पीएचडी रिसर्च फ्रेम वर्क है, इस तरीके मे पढ़ने वाले का बॉडी माइंड दोनों इंगेज रहता है। इसी तरीके से वो बहुत से बच्चो को अंग्रेजी बोलना सिखा चुकी है और अभी भी निरंतर सिखा रही है! बहुत छोटी सी उमर में, इन्हें बहुत शारीरिक कष्ट से भी गुजारना पड़ा, इनका बहुत छोटी सी उमर में इनका हार्ट ऑपरेशन हुआ!
उन्होंने अपने पारिवारिक ज़िंदगी में बहुत उतार चढ़ाव देखे, छोटी सी उमर में विवाह होना, उसके बाद तलाक हो जाना पर वह अपने लक्ष्य को पूरा करने में पीछे नहीं हटी  वह एक दृढ़निश्चय इंसान है ! वह समाजसेवा मे निरंतर कार्यरत है! वह सभी को पढ़ा ही नहीं रही है, साथ ही साथ उन्हें रोजगार भी दिला रही है, खासतौर से महिलाओं को, इन्होंने बहुत सारी, कविताएं और आर्टिकल इंसानियत, शिक्षा और 21वीं सदी की नारी को अपने जीवन कैसे व्यतीत करना चाहिए पर लिखे हैं! इन्हें बहुत से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय अवॉर्ड्स, मेडल, वर्ल्ड रिकॉर्ड और डॉक्टरेट से भी नवाजा गया है! इनके इंटरव्यू रेडियो ही नहीं टीवी पर भी हुए हैं, इनकी स्टोरी इतनी प्रेरणादायक है की वह बहुत सी राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय मैगजीन में भी छपी है!
इनके अंदर कलाओं का भरमार है, इन्हें शिक्षा आसान तरीकों से पढ़ाना, रैपिंग, कविताएं बनाना, आर्टिकल्स लिखने से लेकर, बहुत सी चीजों में यह माहिर है! इनका मानना है कि अगर आप अपनी जिंदगी अपने पैशन, इंसानियत, और रूटीन में पूरी तरह से व्यस्त करें, तो आप बहुत खुश रह सकते हैं!
डॉ माध्वी बोरसे जी समाज मे नारियों के लिए एक मिसाल के तौर पर काम कर रही है।
इनका सपना है एक दिन हर इंसान पढ़ना चाहे, और उसे पढ़ने में खुशी हो, इसीलिए वह आसान से आसान तकनीकों को, लाने की कोशिश कर रही है और समाज में सभी को बराबर का दर्जा मिले, चाहे कोई किसी भी जाति का या धर्म का हो, या कोई भी जेंडर का!
आपका भाई डॉ. विक्रम चौरसिया

About Rihan Ansari

Check Also

5th Bollywood Iconic Award 2024 organized grandly by Dr. Krishna Chouhan

🔊 पोस्ट को सुनें 5th Bollywood Iconic Award 2024 organized grandly by Dr. Krishna Chouhan*_ …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Best WordPress Developer in Lucknow | Best Divorce Lawyer in Lucknow | Best Advocate for Divorce in Lucknow