Breaking News
Home / Latest News / डॉ माध्वी बोरसे जी को “ईयर टू हियर ” संस्थान की संस्थापक मिस ऋचा मेहता जी द्वारा नेशनल एडवाइजर (इंडिया ) के पद पर सुनिश्चित किया गया

डॉ माध्वी बोरसे जी को “ईयर टू हियर ” संस्थान की संस्थापक मिस ऋचा मेहता जी द्वारा नेशनल एडवाइजर (इंडिया ) के पद पर सुनिश्चित किया गया


 
डॉ माध्वी बोरसे जी एक लेखिका के तौर पर बहुत वक़्त से काम कर रही है। कवियत्री होने के नाते उन्होंने समाज में महिलाओ के प्रति जागरूकता फैलाने और उनमे आत्माविश्वास बढ़ाने जैसे मुद्दों पर बहुत सी कविताएं और लेख लिखें है। वह समाज में कई पदो पर कार्यरत है। वह निरंतर सामाजिक कार्यों में हिस्सा लेती है, वह बहुत से वेबिनार भी देती है जिसमे सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की जाती है। वह समाज में बहुत से सामाजिक प्लेटफार्म पर काम करती है, जिनमे से एक बहुत चर्चित प्लेटफार्म है “ईयर टू हियर ” जो महिलाओ से जुड़े कई सामाजिक मुद्दों और उनके मानसिक स्वास्थय से सम्बंधित विषयो पर काम करता है।
डॉ माध्वी बोरसे जी इस प्लेटफार्म के साथ जुड़कर समाज में महिलाओ को प्रोत्साहित करने और मानसिक तनाव को कैसे कम किया जाय जैसे मुद्दों पर काम कर रही है। एक महिला के जीवन में बहुत से उतार चढ़ाव होते है उन्हें मासिक धर्म और गर्भवती होने पर मानसिक तनाव के साथ – साथ शारीरिक बदलाव का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा महिलाओ की निजी जीवन में भी उन्हें कई बार तनाव और बहुत सी समस्याओ का सामना करना पड़ता है। जहाँ आज के इस आधुनिक युग में भी महिलायें मासिक धर्म और उनसे जुड़े कई महत्वपूर्ण विषय पर बात करने में हिचकिचाती है वही डॉ माध्वी बोरसे जी समाज में इन सभी के प्रति जागरूकता फैलाने का काम कर रही है वह सोशल मीडिया और अन्य सामाजिक प्रोग्रामो के जरिये इन सभी मुद्दों पर खुलकर बात करती है। इन सभी के साथ वह 21वी सदी की नारी को किस तरह का जीवन व्यतीत करना चाहिए इसके लिए वह महिलाओ को प्रोत्साहित करने के साथ उनका आत्माविश्वास बड़ा रही है, उनका इसका कार्य में योगदान अमूल्य है। उनका मानना है की हर महिला को काम ज़रूर करना चाहिए। काम छोटा हो या बड़ा महिलाओं को आत्मनिर्भर होना चाहिए। हर महिला को अपने अंदर छिपे हुए हुनर को पहचानना चाहिए और उस पर काम करना चाहिए।
डॉ माध्वी बोरसे जी का समाज में महिलाओ के प्रति योगदान अमूल्य है। उनकी सोच बहुत ही सराहनीय है उनका कहना है की “द बिज़एस्ट लाइफ इज द हैप्पीएस्ट लाइफ एवर ” उनके कहने के अनुसार ज़िन्दगी में ख़ुश रहने के लिए लाइफ का बिजी होना बहुत ज़रूरी है। उनका कहना बिल्कुल सही है काम इंसान को बिजी और मानसिक तनाव से दूर रखता है। वह बच्चो को पढ़ाने के साथ -साथ समाज में  सामाजिक मुद्दों पर काम कर रही है आजके इस युग में सभी महिलाओ को उनसे प्रेरित होकर उनसे जुड़ी हर समस्या पर खुलकर चर्चा करना चाहिए, और उसका समाधान निकालना चाहिए।
डॉ माध्वी बोरसे जी अपने लक्ष्य को पाने के लिए बिना रुके बिना थके निरंतर काम करती रही और आज भी कर रही है। उनका समाज में अविश्वसनीय योगदान देखकर आदरणीया मिस ऋचा मेहता जी ने जो की संस्थापक है “ईयर टू हियर” संस्थान की, उन्होंने डॉ माध्वी बोरसे जी को अपने संस्थान की नेशनल एडवाइजर (इंडिया )के पद पर सुनिश्चित किया है।
मानसिक स्वास्थ्य विशेष रूप से महिलाओं के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता है, क्योंकि वह एक साथ कई सारी ज़िम्मेदारिया उठाती है तो उनके लिए घर हो या काम पर इसका सामना करना मुश्किल हो जाता है।  महिलाओं के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए, और उनकी आँखों में एक उद्देश्यपूर्ण सपने और महत्वाकांक्षा के साथ, सुश्री ऋचा मेहता, संस्थापक (कान से सुनने) ने 1 जनवरी 2021 को ईयर टू हियर नाम से एक सुंदर सामाजिक पहल की।  , एक सामाजिक मंच जो जीवन के विभिन्न क्षेत्रों की महिलाओं के साथ मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर चर्चा करने और साझा करने के लिए संलग्न है।
 ऋचा मेहता पेज3 सेलिब्रिटी के तौर पर जाना-पहचाना नाम हैं।  वह एक बहु-आयामी व्यक्तित्व हैं जिन्होंने मॉडलिंग, उद्यमिता के क्षेत्र में प्रभाव डाला है और शीर्ष पायदान टीवीसी और डिजिटल विज्ञापनों के साथ एक अभिनेता भी हैं।
 ईयर टू हियर ने ६ महीनों में ३०+ सदस्यों की एक कोर टीम बनाई और ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों सत्रों के माध्यम से लगभग १०००+ उपस्थित लोगों को पूरा किया।  जीवन के विभिन्न क्षेत्रों की महिलाएं, जो ऑनलाइन और ऑफलाइन सत्रों के माध्यम से ईयर टू हियर से जुड़ी है, एक सत्र में भाग लेने के बाद स्वयं को सहज, समर्थित और आत्मविश्वास महसूस करती है, कुछ ने तो इसे ‘जीवन बदलने वाला’ भी कहा।
 नीचे सूचीबद्ध कुछ में से यह मंच कई तरह से मदद करता है-
 1. मुद्दे जो एक महिला के मानसिक स्वास्थ्य,  उनकी चिंता के लिए उठाई जाने वाली आवाज, और भलाई को प्रभावित करते हैं।
 2. एक सहायता समूह के माध्यम से मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों को दूर करने के लिए प्रत्येक महिला को संलग्न और सक्षम करें, जिसमें राज्य के राजदूतों, क्षेत्रीय नेताओं और अन्य विशेषज्ञों की एक टीम शामिल है।  इसमें विभिन्न शैक्षणिक विधियों के माध्यम से मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाली चुनौतियों को सीखना और उन पर काबू पाना शामिल है।
 3. यदि कानूनी सलाह या मनोवैज्ञानिक परामर्श से संबंधित और सहायता की आवश्यकता होती है, तो टीम उन्हें विशेषज्ञों के पास भी भेजती है।
 यह तब आसान होता है जब हम मानसिक कुशलता और क्षमताओं के साथ हम महिलाओं पर फेंकी गई समस्याओं को हल करना सीखते हैं।  हमारा लक्ष्य सभी 28 राज्यों तक पहुंचना है।  इस पहल में हमें [email protected] पर मेल करके शामिल हों और आइए हम सब मिलकर इसे हम सभी के लिए एक खुशहाल जगह बनाने का लक्ष्य रखें, जिस तरह हम सब एक साथ मजबूत होकर उभरे है।

About Rihan Ansari

Check Also

Producer Director Dheeraj Kumar unveiled the poster of Legend DadaSaheb Phalke Award 2024, a grand event will be held on May 4 on Dr. Krishna Chouhan’s Birthday

🔊 पोस्ट को सुनें Producer Director Dheeraj Kumar unveiled the poster of Legend DadaSaheb Phalke …

Leave a Reply

Your email address will not be published.