Breaking News
Home / Latest News / डॉक्टर सुजाता कपूर एक बहुआयामी और सशक्तत महिला है

डॉक्टर सुजाता कपूर एक बहुआयामी और सशक्तत महिला है


 
डॉ सुजाता कपूर का पेशे से एक फाइनेंस की प्रोफेसर हूं मै बिजनेस स्कूल में बीबीए प्रोग्राम डायरेक्टर की तरह काम करती हूं मैंने कई सौंदर्य प्रतियोगिता जीती है पढ़ाने और रिसर्च करने के साथ-साथ मैं मॉडलिंग भी करती हूं  मैं बहुत सारी अंतरराष्ट्रीय मैगजीन की कवर गर्ल रह चुकी हूं मैं पहली भारतीय महिला हूं जिसने बिहेवियर फाइनेंस के एरिया में किताब लिखी है मैं एक सशक्त महिला हूं जो अपने जीवन में कई किरदार निभाती है मैं एक मैं हूं एक बेटी हूं एक पत्नी हूं एक मैं हूं एक बहू है और मार्गदर्शन करने वाली कई बच्चों  के लिए टीचर  हूं
डॉ सुजाता कपूर बचपन से ही मॉडलिंग और सौंदर्य प्रतियोगिताओं में भाग लेना चाहती थी मुझे डांस में काफी रूचि है मैंने अपनी पढ़ाई खत्म करने के उपरांत और शादी के बाद मॉडलिंग शुरू करी और मैं यही कहना चाहती हूं कि अपने सपनों को पूरा करने की कोई उम्र नहीं होती अपने सपनों को पूरा करने के लिए सिर्फ मेहनत की जरूरत होती है मैं जीवन में कभी भी सस्ती लोकप्रियता के पीछे नहीं भागी जो भी मिला अपनी मेहनत और अकल से मिला सफल होने के लिए कभी भी शॉट कट नहीं लिया
हलांकि डॉ सुजाता कपूर एजुकेशन इंडस्ट्री में हूं और एजुकेशन में मैंने काफी सफलता भी पाई है मैंने जो रिसर्च की है वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी लोकप्रिय हुई है पर फिर भी दिल के कोने में बचपन की इच्छा पूरी करने की तमन्ना थी इसलिए मैंने अपना सपना कभी नहीं छोड़ा और उसके लिए मेहनत करती रही मॉडल बनने के बाद दुनिया का नजरिया मेरी तरफ बदल गया लोग इस बात से आश्चर्यचकित है कि एक सफल प्रोफेसर एक सफल मॉडल भी बन सकता है और फैशन इंडस्ट्री में भी नाम कमा शक्ति है शिक्षा  का अपना महत्व होता है  शिक्षा आपको आगे बढ़ने में मार्गदर्शन करती  मॉडल बनने के लिए मैंने बहुत सारी चुनौतियों का सामना किया  मेरी 7 साल की बेटी स्वालीनता नामक एक न्यूरो डिसऑर्डर से ग्रसित है इसलिए मुझे उसे बहुत टाइम देना होता है साथ में मैं  टीचिंग के फुल टाइम प्रोफेशन में भी हूं इसलिए मुझे बहुत सोच समझकर माडलिग के लिए टाइम निकालना पड़ता है मॉडलिंग सबसे बड़ी चुनौती तो यह है कि इस इंडस्ट्री में बहुत लोग फ्रॉड है ऐसे लोगों से आपको बच कर रहना होगा और अपनी  बुद्धि का प्रयोग करना होगा इसीलिए मैं बार-बार कहती हूं कि कभी भी अपने जीवन में सस्ती लोकप्रियता के पीछे मत भागें
जब डॉ सुजाता कपूर मिस इंडिया रेनेसांस बनी तब मुझे वर्ल्ड क्लास ब्यूटी क्वीन मैगजीन में इंटरव्यू का मौका मिला मेरा इंटरव्यू उनको इतना पसंद आया कि उन्होंने मुझे कवरगर्ल बनने के लिए आमंत्रित किया इससे मुझे भारत में एक सेलिब्रिटी स्टेटस मिला और उसके बाद मुझे मौके मिलते चले गए मैं बहुत सारी फेमस इंटरनेशनल मैगजीन की कवर गर्ल रह चुकी हूं अगस्त के महीने में एक बहुत ही मशहूर हॉलीवुड मैगजीन की कवर गर्ल बनने जा रही हूं
       
भगवान की दया से मुझे बहुत ऑफर्स मिले हैं पर डॉ सुजाता कपूर ने सोच समझकर ही कदम बढ़ाती  हूं और मैं सिर्फ चैलेंजिंग रोल ही करना चाहती हूं क्योंकि मेरे सारे फॉलोवरशिप यंगस्टर्स और यूथ है इसलिए मैं सोच समझ कर ही काम करना चाहती हूं क्योंकि बहुत लोग मुझे अपना रोल मॉडल मानते हैंउ
डॉ सुजाता कपूर संवेदनाएं नाम से एक पहल चलाती हूं इस पहल के दारा जनता  को स्वालीनता नामक न्यूरो डिसऑर्डर के बारे में जागरूक करना चाहती हूं संवेदनाएं पहल के अंतर्गत जो गरीब बच्चे हैं और जो बच्चे स्वालीनता से ग्रसित हैं उन बच्चों को  हम मंच प्रदान करते हैं अपनी प्रतिभा को दिखाने के लिए और यह जो मंच हम प्रदान करते हैं यह बिल्कुल निशुल्क है संवेदनाएं को सफल बनाने के लिए मेरे पति डॉ पुनीत कालरा का काफी सहयोग रहता है
मुझे फिल्म्स के बहुत ऑफर मिलते हैं पर क्योंकि मैं संवेदनाएं पहल चलाती हूं मैं उस पर अपना हंड्रेड परसेंट फोकस रखना चाहती हूं मेरी बेटी भी 7 साल की है तो उसको भी मैं समय देना चाहती हूं इसलिए मैंने अभी कोई भी फिल्म का ऑफर नहीं लिया है पर मैं इंतजार कर रही हूं कि अगर बहुत बड़े और बहुत ही अच्छे बैनर के तहत मुझे कोई फिल्म मिलती है तो मैं अपना भाग्य उसमें जरूर ट्राई करूंगी
न्यूज़ या आर्टिकल देने के लिए संपर्क करें (R ANSARI 9927141966) Contact us for news or articles & RN Today – चैनल को सब्सक्राइब और लाइक करें https://www.youtube.com/channel/UC8AN-OqNY6A2VsZckF61m-g

About Rihan Ansari

Check Also

आख़िरकार इंतज़ार खत्म हुआ क्योंकि आकर्षक रोमांटिक गाना ‘मन क्यों बहका जा रहा है’ का पूरा गाना रिलीज़ हो गया है

🔊 पोस्ट को सुनें आख़िरकार इंतज़ार खत्म हुआ क्योंकि आकर्षक रोमांटिक गाना ‘मन क्यों बहका …

Leave a Reply

Your email address will not be published.